भारी बारिश और बर्फबारी के कारण अमरनाथ यात्रा दूसरे दिन भी रोकी, 65 हजार से अधिक यात्री फंसे

मौसम खराब होने की वजह से जम्मू आधार शिविर से जत्थे को आगे नहीं भेजा गया। आधार शिविर फुल होने की वजह से नए जत्थे को प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई। इसमें शामिल श्रद्धालुओं को शहर के विभिन्न स्थानों पर ठहराया गया है।

amarnath-yatra

भारत के मशहूर पर्वतारोहण स्थल अमरनाथ यात्रा के दूसरे दिन भी भारी बारिश और बर्फबारी के कारण यात्रा स्थगित कर दी गई है। मौसम खराब होने की वजह से जम्मू आधार शिविर से जत्थे को अगले चरण में आगे नहीं भेजा गया है। आधार शिविर का क्षमता पूरी होने के कारण नए जत्थे को प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई है। इस अवस्था में, यात्रियों को शहर के विभिन्न स्थानों पर ठहराया जा रहा है।

अमरनाथ यात्रा के दौरान पवित्र गुफा और पोषपत्री इलाके में बर्फबारी के कारण पूरा क्षेत्र बर्फ से ढक गया है। नए यात्रियों को रोड़ पर रोक लिया जा रहा है, जो कठुआ और सांबा में हैं, जहां उन्हें सुरक्षित रखा जाएगा। बालटाल, पहलगाम, चंद्रकोट, श्रीनगर, और जम्मू में 65,000 से अधिक श्रद्धालु विभिन्न कैंपों में फंसे हुए हैं। मौसम विभाग ने रविवार को भी बारिश की चेतावनी जारी की है और इसके कारण आज भी यात्रा स्थगित रह सकती है। इस दौरान, 600 अमरनाथ यात्री रामबन में फंसे हुए हैं।

हालांकि, पवित्र गुफा में सुबह और शाम को आरती हुई है। बारिश का सिलसिला शुक्रवार से शनिवार शाम तक नहीं थमा था। बालटाल और पहलगाम के ट्रैक पर बारिश के कारण सुबह को श्रद्धालुओं को नहीं भेजा गया है। भगवान शिव के भक्त कैंपों में उत्साहपूर्ण भजन-कीर्तन किया जा रहा है। श्राइन बोर्ड के अधिकारियों के अनुसार, जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद होने के कारण जम्मू से नए जत्थे को नहीं भेजा जा सका। शुक्रवार को जम्मू से रवाना हुए 4,600 यात्रियों कजम्मू-पठानकोट हाईवे के चंद्रकोट में रोक लिया गया था और वे अभी भी वहीं पर हैं। सभी यात्रियों को विभिन्न कैंपों में सुरक्षित रखा गया है और यात्रा केवल मौसम में सुधार होने पर ही आगे बढ़ाई जाएगी।

जम्मू शहर में भगवती नगर आधार शिविर सहित विभिन्न स्थानों पर लगभग 10,000 यात्रियों को रोका गया है। कठुआ और सांबा में भी यात्रियों की रुकावट की गई है। उपराष्ट्रपति मनोज सिन्हा और श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के सीईओ डॉ. मंदीप भंडारी ने स्थिति का निरीक्षण किया है और बालटाल और पहलगाम आधार शिविर के कैंप निदेशकों को यात्रियों की सुविधा के लिए निर्देश दिए हैं।

आज भी मौसम में भारी बारिश की चेतावनी है। अमरनाथ आधार शिविर को रविवार को भी जत्था भेजने की संभावना कम है। मौसम विभाग ने रविवार के लिए भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इसके साथ ही जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर रामबन जिले के पंथयाल इलाके में हाईवे का एक हिस्सा बारिश के दौरान बह गया है, जिसके कारण इस मार्ग पर यातायात बंद है। उम्मीद है कि रविवार तक मौसम में सुधार हो जाएगा और वैकल्पिक प्रबंध करके यात्रा को आगे बढ़ाने की कोशिश की जाएगी।

बारिश और मौसम की खराबी के कारण तीर्थयात्रा को लगातार रोक दिया गया है। सभी यात्रियों को सुरक्षित शिविरों में रखा गया है और जहां कहीं भी यात्रियों को किसी प्रकार की असुविधा का सामना हो रहा है, सेना और अधिकारी सुरक्षित स्थानों पर उन्हें पहुंचाने में लगे हैं। इसलिए किसी को परेशान होने की आवश्यकता नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *