इष्ट देव: जन्म कुंडली के अनुसार कैसे जानें कौन हैं आपके आराध्य देव? राशि के अनुसार जानिए

इष्ट देव की महत्वपूर्णता: शास्त्रों के अनुसार, आराध्य देव की पूजा से कैसे मिलती है कृपा और शांति?

इष्ट देव

पसंदीदा देवता कौन हैं:

दुनिया में हर व्यक्ति अपने धार्मिक और सांस्कृतिक विचारों के अनुसार किसी न किसी देवता की पूजा करता है। शास्त्रों के अनुसार जो व्यक्ति नियमित रूप से और श्रद्धापूर्वक अपने इष्ट देवता की पूजा करता है, उस पर ग्रहों का नकारात्मक प्रभाव कम पड़ता है। हमें बताएं कि आपका पसंदीदा देवता कौन है।

मेष– मेष राशि वालों के लिए सूर्य इष्ट देवता हैं. इन्हें नियमित रूप से सूर्य की पूजा करनी चाहिए, जिससे सूर्य की कृपा प्राप्त होती है। इनके लिए राम नाम का जाप भी शुभ रहता है।

वृषभ– वृषभ राशि वालों के लिए महागणपति इष्ट देवता हैं. इनके लिए विघ्नहर्ता गणेश जी की पूजा और चतुर्थी का व्रत बहुत महत्वपूर्ण है।

मिथुन– मिथुन राशि के जातकों की इष्ट देवी देवी या भगवती हैं। इन्हें अपने इष्ट देवता की पूजा करनी चाहिए और कन्या भोज का आयोजन करना इनके लिए शुभ रहता है।

कर्क– कर्क राशि वाले लोगों के इष्ट देव हनुमान जी और श्री राम हैं. इनके लिए हनुमान चालीसा और राम नाम का जाप शुभ रहता है।

सिंह– सिंह राशि के जातकों के इष्ट देव श्री राधा कृष्ण हैं। उन्हें राधे कृष्ण का जाप करना चाहिए.

कन्या– कन्या राशि के जातकों के इष्ट देव महादेव हैं. इन्हें नियमित रूप से शिवस्त्रोतम और रुद्राष्टक स्तोत्र का पाठ करना चाहिए।

तुला– शिव परिवार इनका इष्ट देव है। तुला राशि वाले मंदिर में शिव परिवार की मूर्ति रखें और उनकी पूजा करें।

वृश्चिक– गुरु की सेवा ही इनका धर्म है, क्योंकि गुरु इनके इष्ट देवता हैं। हनुमान जी को गुरु बनाकर भी उनकी पूजा की जा सकती है।

धनु– धनु राशि वालों के इष्ट देव हनुमान जी हैं. उन्हें अपने इष्ट देवता की पूजा में समर्पित रहना चाहिए।

मकर– देवी के कई रूप इनके इष्ट देव हैं। उन्हें देवी की आराधना में समर्पित रहना चाहिए।

कुंभ– इनके इष्ट देव श्री कृष्ण हैं। इन्हें घर में श्री कृष्ण की मूर्ति रखनी चाहिए और उनकी पूजा करनी चाहिए।

मीन– मीन राशि वालों के इष्ट देवता श्री रामचन्द्र हैं। उन्हें रामचन्द्र जी की स्तुति और पूजा करनी चाहिये।

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *