उत्पन्ना एकादशी 2023: शंख की पूजा और ज्योतिष के अनुसार उपाय, विपत्तियों से मुक्ति

उत्पन्ना एकादशी 2023: इस दिन शंख की पूजा का विशेष महत्व है, जानिए विधि और उपाय ज्योतिष से

उत्पन्ना एकादशी 2023,

उत्पन्ना एकादशी 2023

हिंदू धर्म में एकादशी का विशेष स्थान है और उत्पन्ना एकादशी 2023 अपना अभूतपूर्व महत्व लेकर आ रही है। आइए इस दिन शंख की पूजा से जुड़े अनोखे उपाय जानने के लिए इस रिपोर्ट में चर्चा करते हैं।

ज्योतिष गणना के अनुसार इस दिन शंख की पूजा का विशेष महत्व है। इसके सही नियम-कायदों का पालन करके आप परेशानियों से मुक्ति पा सकते हैं।

भगवान विष्णु को समर्पित इस दिन को और भी अधिक शक्तिशाली बनाने के लिए अयोध्या के ज्योतिषी पंडित कल्कि राम से जान सकते हैं कि इस एकादशी के दिन किन मंत्रों और उपायों का जाप करना चाहिए।

उत्पन्ना एकादशी के दिन भगवान शालिग्राम की पूजा करते समय स्नान ध्यान करना चाहिए और भगवान को धूपबत्ती समर्पित करनी चाहिए। शंख को गाय के दूध से स्नान कराकर उस पर चंदन और फूल चढ़ाने चाहिए। इस अद्भुत पूजा-पाठ से संतान सुख की प्राप्ति होती है और इसका परिणाम तुरंत दिखाई देता है।

शंख की पूजा विधि में सबसे पहले देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा से शुरुआत करनी चाहिए। दक्षिणावर्ती शंख की स्थापना और प्राण प्रतिष्ठा के बाद इसकी विधि-विधान से पूजा करनी चाहिए। समाप्त होने पर शंख को घर के सभी क्षेत्रों में छिड़कना चाहिए, जिससे आपके जीवन में हमेशा सफलता और खुशियाँ बनी रहेंगी।

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *