‘कश्मीर: भारत का सख्त जवाब, संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान को आगाही दी’

पाकिस्तान के कार्यवाहक प्रधानमंत्री अनवारुल हक काकर ने कश्मीर का मुद्दा उठाया, लेकिन भारत ने उसे मानवाधिकारों की सहायता करने की सलाह दी।

कश्मीर विवाद

कश्मीर:

पाकिस्तान के कार्यवाहक प्रधान मंत्री अनवारुल हक काकर ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर का मुद्दा उठाया, लेकिन भारत ने उन्हें मानवाधिकारों की मदद करने की सलाह देकर जवाब दिया।

भारत ने पाकिस्तानी पीएम को दिखाया आईना

भारत ने पाकिस्तान को संदेश दिया है कि वह दूसरे देशों को भी मानवाधिकारों का पालन करने की सलाह दे, जैसे वे खुद ऐसा नहीं कर रहे हों. इसके साथ ही भारत ने पाकिस्तान से कश्मीर का अपना हिस्सा खाली करने की मांग की है, क्योंकि पूरा कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. भारत ने यह जवाब संयुक्त राष्ट्र में तैनात विदेश मंत्रालय की प्रथम सचिव पेटल गहलोत को दिया है, जिससे पता चलता है कि भारत पाकिस्तान के कार्यवाहक प्रधानमंत्री की इस बात को कितनी गंभीरता से ले रहा है।

भारत पर बेबुनियाद आरोप लगाना पाकिस्तान की पुरानी आदत है. पेटल गहलोत ने अपने जवाब में कहा कि पाकिस्तान का मानवाधिकार रिकॉर्ड बहुत खराब है, खासकर अल्पसंख्यकों और महिलाओं की स्थिति के मामले में। पाकिस्तान को किसी दूसरे देश पर उंगली उठाने से पहले अपने अंदरूनी हालात पर नजर डालनी चाहिए.

पेटल गहलोत ने पाकिस्तान को दिए तीन सुझाव

उन्होंने पाकिस्तान को तीन सुझाव दिए हैं- पहला, आतंकवाद रोकने के लिए सीमा पार सुविधाएं बंद करना, दूसरा, भारत के दबाव में कश्मीर का वह हिस्सा खाली करना और तीसरा, अल्पसंख्यकों के खिलाफ मानवाधिकारों का पालन करना. इस जवाब के जरिए भारत ने पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की स्थिति को वैश्विक मंच पर लाने में कोई कसर नहीं छोड़ी.

पेटल गहलोत ने आगे कहा कि पाकिस्तान का मानवाधिकार रिकॉर्ड बहुत खराब है, खासकर अल्पसंख्यकों और महिलाओं की स्थिति के मामले में।

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *