ठंड में बढ़ जाते हैं ब्रेन स्ट्रोक के केस, न्यूरोसर्जन से जानें कारण और बचाव के उपाय

रिम्स के जाने-माने न्यूरो सर्जन डॉ विकास ने बताया ठंड के मौसम में खासकर ब्रेन स्ट्रोक का खतरा अधिक रहता है. लेकिन अगर कुछ बातों को जानकर अगर सावधानी रखते हैं, तो काफी हद तक आप इस खतरे से बाहर रहेंगे.

ब्रेन स्ट्रोक का खतरा

ठंड में बढ़ जाते हैं ब्रेन स्ट्रोक के केस

ठंड के मौसम में खासकर बुजुर्गों में ब्रेन स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। अगर समय पर इसका इलाज न किया जाए तो मरीज की मौत भी हो सकती है। झारखंड की राजधानी रांची स्थित रिम्स के न्यूरोसर्जन डॉ. विकास का कहना है कि ठंड के मौसम में ब्रेन स्ट्रोक का खतरा अधिक रहता है. वह कुछ उपाय साझा करते हैं जो इस खतरे को कम कर सकते हैं।

डॉ. विकास के मुताबिक, ठंड के दिनों में खून बहुत गाढ़ा हो जाता है और हल्का सा झटका लगने पर भी ब्रेन स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। उन्होंने कुछ सुझाव दिये:

1.खासकर जो लोग बीपी और शुगर के मरीज हैं उन्हें इस समय अपना खास ख्याल रखना चाहिए।
2.सुबह जल्दी मॉर्निंग वॉक पर न जाएं, हल्की धूप होने पर ही जाएं और समय पर दवाइयां लें।
3.गुनगुने पानी से स्नान करें और ठंडे पानी से बचें क्योंकि इससे स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है।
4.हर व्यक्ति को कुछ देर गुनगुनी धूप में बैठना चाहिए, ताकि उन्हें विटामिन डी मिले और शरीर में रक्त का प्रवाह सामान्य बना रहे।
5.शारीरिक सक्रियता बढ़ाएं, पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं और मौसमी फलों का सेवन करें, ताकि खून गाढ़ा न हो।
इन सावधानियों को ध्यान में रखकर ठंड के मौसम में ब्रेन स्ट्रोक के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *