(PCS)पीसीएस ज्‍योति मौर्या पर आलोक के आरोपों की जांच पूरी, क्या होगा ऐक्शन?

पीसीएस ज्योति मौर्या : जिला कमांडेंट मनीष दुबे के संपर्क में होने के आरोपों पर जांच के बाद बदलेंगे सबके कार्यकाल?

पीसीएस ज्योति मौर्या pcs jyoti mourya and alok

बरेली में तैनात अधिकारी पीसीएस ज्योति मौर्य और उनके पति आलोक मौर्य के बीच विवाद की चर्चा हर घर में हो रही है. आलोक ने ज्योति मौर्य पर होम गार्ड कमांडेंट मनीष दुबे के साथ संबंध रखने और उसके साथ मिलकर हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है. इन आरोपों को लेकर मनीष के खिलाफ जांच चल रही थी. जांच अधिकारी ने सोमवार को अपनी जांच रिपोर्ट डीजी होम गार्ड्स को सौंप दी है. इसके आधार पर इस मामले में आगे की विभागीय कार्रवाई की जा सकती है.

यह जांच प्रयागराज निवासी सफाई कर्मचारी आलोक मौर्य की शिकायत पर की गई है। आलोक मौर्य ने पिछले दिनों शिकायती पत्र देकर आरोप लगाया था कि उनकी पत्नी पीसीएस अधिकारी हैं जो वर्ष 2020 से जिला कमांडेंट मनीष दुबे के संपर्क में हैं। अब दोनों मिलकर उनकी हत्या की साजिश रच रहे हैं। आलोक ने मुख्यमंत्री से भी न्याय की गुहार लगाई थी.

शिकायती पत्र पर डीजी होम गार्ड्स वीके मौर्य ने जांच प्रयागराज के डिप्टी कमांडेंट जनरल संतोष कुमार को सौंपी है। इसी बीच जिला कमांडेंट मनीष दुबे का भी गाजियाबाद से महोबा तबादला कर दिया गया। आलोक मौर्य लगातार अपनी पत्नी और मनीष दुबे के रिश्ते पर निशाना साध रहे हैं. आलोक मौर्य और उनकी पीसीएस पत्नी का रिश्ता इन दिनों सोशल मीडिया पर बहस का मुद्दा बना हुआ है।

इसके साथ ही बरेली की चीनी मिल में तैनात पीसीएस ज्योति मौर्य के खिलाफ जांच में मिले तथ्यों से शासन को अवगत कराने की बात कही जा रही है।

ज्योति मौर्य ने शासन में रखा अपना पक्ष: ज्योति मौर्य ने पिछले शुक्रवार को अपर मुख्य सचिव डॉ. देवेश चतुर्वेदी से मुलाकात कर पूरे प्रकरण पर अपनी सफाई पेश की थी. उन्होंने अपने पक्ष में कई तर्क रखे. पीसीएस बनने के बाद ज्योति को कौशाम्बी, जौनपुर, प्रयागराज, प्रतापगढ़ और लखनऊ में तैनात किया गया है। फिलहाल वह बरेली में तैनात हैं। पति आलोक मौर्य ने भी ज्योति पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं. सबूत के तौर पर एक डायरी पेश की गई है. आलोक का आरोप है कि ज्योति इस डायरी में भ्रष्टाचार के लेन-देन का हिसाब रखती थी।

कॉल रिकॉर्डिंग से बढ़ सकती है मुश्किल: सूत्रों के मुताबिक, प्रकरण में जो रिकॉर्डिंग सामने आई हैं उनमें से कुछ की फॉरेंसिक जांच होनी है। यदि रिकॉर्डिंग में आवाज सही साबित हुई तो ज्योति मौर्य और मनीष दुबे की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

यह भी पढ़ें:

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *