बी20 सम्मिलन में निर्मला सीतारमण: चीन की बजाय भारत की कहानी सुनाने की पसंद; विवाद के पीछे छिपी यह रचना

निर्मला सीतारमण: ‘मैं चीन के घटनाक्रमों पर नजर रखूंगी, लेकिन मेरी ध्यान भारत की वर्तमान समय, अवसरों, कौशल और कार्य संस्कृति पर है’

अंतरिम बजट 2024

 B20 Summit:

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक कार्यक्रम के दौरान खुलासा किया कि उन्हें ‘चीन के बजाय भारत की कहानी बताने में मजा आता है’. इस घटना की गवाही दिल्ली में आयोजित बी-20 समिट के दौरान दी गई. इसके अलावा, लोगों को यह जानने में दिलचस्पी है कि इस अनोखी दिलचस्पी के पीछे क्या हो सकता है।

चीनी अर्थव्यवस्था की स्थिति पर चर्चा

बी-20 कॉन्फ्रेंस के जरिए पूछा गया कि चीन में दिख रही आर्थिक मंदी का भारत और अन्य देशों पर किस तरह का असर होगा. सीतारमण ने स्वीकार किया कि चीन का घटनाक्रम सभी के लिए चिंता का विषय है।

भारत की शक्ति प्रस्तावना

वित्त मंत्री ने कहा, ‘मेरा मकसद चीन के साथ बातचीत की बजाय भारत की कहानी सामने रखना है. मैं चीन के आर्थिक परिप्रेक्ष्य में विकास का अनुसरण करूंगा, लेकिन मेरी प्राथमिकता पद, अवसर, कौशल और कार्य संस्कृति है। यहां की युवा पीढ़ी में आगे बढ़ने की ऊर्जा है और वे खुद को साबित करने के लिए प्रेरित हैं। इसलिए हमें दूसरों की परेशानियों के बजाय भारतीय शक्ति के बारे में चर्चा करनी चाहिए।’

आगामी जी-20 शिखर सम्मेलन का आयोजन

जानकारी के मुताबिक, आगामी सितंबर में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन से पहले बी-20 शिखर सम्मेलन आयोजित होने जा रहा है. सीतारमण ने कहा, ‘मैं भारत की मौजूदा ताकतों को पेश कर रही हूं, खासकर युवा पीढ़ी के सामने, जो अच्छी अंग्रेजी में बातें करते हैं।’ अपने भाषण में उन्होंने बुनियादी ढांचे के विकास, स्टार्टअप के लिए समर्थन और जलवायु परिवर्तन की समस्याओं के समाधान की दिशा में सरकार के कदमों के बारे में बात की।

भारत-ब्रिटेन मुक्त व्यापार समझौते की उम्मीद

निर्मला सीतारमण ने उम्मीद जताई कि भारत और ब्रिटेन के बीच जल्द ही मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) की घोषणा हो सकती है। बी-20 शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भारत ने विभिन्न देशों के साथ बातचीत जारी रखी है और यूरोपीय मुक्त व्यापार संघ (ईएफटीए) भी बातचीत के पायलट प्रोजेक्ट में है. ईएफटीए में लिकटेंस्टीन, नॉर्वे, आइसलैंड और स्विट्जरलैंड शामिल हैं। सीतारमण ने कहा, ‘हमें अपनी सप्लाई चेन में विविधता लाने की जरूरत है। लचीली और कुशल आपूर्ति श्रृंखलाएं जो अच्छी तरह से काम करने वाले अंतरराष्ट्रीय बाजारों की बढ़ती मांगों को पूरा कर सकती हैं, हमारे विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं। इसलिए, हमें आने वाली चुनौतियों से खुद को सुरक्षित रखने के लिए पूरी तरह तैयार रहने की जरूरत है।”

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *