भारत बनाम न्यूजीलैंड: कप्तान रोहित शर्मा ने खोला टीम इंडिया की सफलता का राज, सेमीफाइनल से पहले इशारों-इशारों में कीवी टीम को दी वॉर्निंग

रोहित शर्मा की प्रेस कॉन्फ्रेंस: आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप 2023 का पहला सेमीफाइनल मैच, भारत और न्यूजीलैंड के बीच, 15 नवंबर को होगा। भारत ने 9 मैचों में अंकतालिका के शीर्ष पर पहुंचकर सेमीफाइनल में कदम रखा है। इस पहले महत्वपूर्ण मैच से पहले कप्तान रोहित ने टीम की तैयारी पर अपने विचार साझा किए।

भारत बनाम न्यूजीलैंड,

रोहित शर्मा की प्रेस कॉन्फ्रेंस:

आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप 2023 का पहला सेमीफाइनल मैच 15 नवंबर को भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला जाएगा. भारतीय टीम ने लगातार 9 मैच जीतकर प्वाइंट टेबल में टॉप पर पहुंचकर सेमीफाइनल में पहुंचने का प्लान बनाया है.

न्यूजीलैंड की टीम ने पांच मैचों में चौथे स्थान पर रहकर सेमीफाइनल की नींव रख दी है. सेमीफाइनल से पहले रोहित शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में टीम की तैयारियों पर अपना नजरिया साझा किया. इस मौके पर उन्होंने टीम इंडिया की सफलता के पीछे का राज खोला और कोच राहुल द्रविड़ की तारीफ की.

भारत बनाम न्यूजीलैंड:

रोहित शर्मा ने पहले कहा, “सभी को दिवाली की शुभकामनाएं। जब हम विश्व कप खेलते हैं तो हमेशा दबाव होता है, लेकिन हमने इसे शानदार ढंग से संभाला है। हम इस दबाव को जारी रखना चाहते हैं और बाहरी शोर को नजरअंदाज करना चाहते हैं।” ऐसा करने के बाद हम अपने खेल पर ध्यान देंगे।”

रोहित ने टीम के अनुभव पर भी बात करते हुए कहा, ”इस भारतीय टीम की खूबसूरती यह है कि जब हमने 1983 में विश्व कप जीता था, तब हम पैदा भी नहीं हुए थे। जब हम 2011 में जीते, तो आधे खिलाड़ी नहीं खेल रहे थे।” यह इस पर है कि हम कैसे बेहतर हो सकते हैं, न कि इतिहास में क्या हुआ।”

रोहित शर्मा ने कहा, ”एक कप्तान के तौर पर अगर आपने तय कर लिया है कि आपको ऐसे ही खेलना है तो आपके अंदर स्पष्टता होनी चाहिए. आपको खिलाड़ियों का समर्थन करना होगा, हमने भी कुछ ऐसा ही किया है और खिलाड़ियों का समर्थन किया है.” कुछ जिम्मेदारियां दी हैं।”

रोहित ने इस योजना पर सहमति जताने के लिए मुख्य कोच राहुल द्रविड़ को भी श्रेय दिया और कहा, “हमें उस विचार को अपनाने के लिए राहुल द्रविड़ को श्रेय देना होगा।”

मैच से पहले रोहित ने टॉस के बारे में भी कहा, “मैंने यहां काफी क्रिकेट खेला है। पिछले चार या पांच मैचों में मुझे नहीं पता था कि वानखेड़े क्या है। इसलिए टॉस मायने नहीं रखता।”

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *