लैपटॉप आयात पर भारत में प्रतिबंध: जानकारियों के लीक होने की चिंता, मंत्री पीयूष गोयल ने व्यक्त की चिंता

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार (17 अगस्त) को बताया कि लैपटॉप के आयात पर लगाए गए प्रतिबंध में सुरक्षा संबंधित चिंताएं शामिल हैं। मंत्री ने कहा कि इस निर्णय से लैपटॉप की उपलब्धता और कीमत पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा और सरकार उद्योग से मिलकर विचार करने के लिए तैयार है।

लैपटॉप आयात प्रतिबंध, सुरक्षा संबंधित चिंताएं, मंत्री पीयूष गोयल

नई दिल्ली, एजेंसी:

केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार (17 अगस्त) को कहा कि लैपटॉप के आयात पर लगाए गए प्रतिबंध में सुरक्षा संबंधी चिंताएं शामिल हैं। मंत्री ने कहा कि इस फैसले से लैपटॉप की उपलब्धता और कीमत पर कोई असर नहीं पड़ेगा और सरकार उद्योग जगत के साथ चर्चा के लिए तैयार है.

मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, ”यहां गंभीर सुरक्षा संकट है, जिससे यह स्पष्ट होता है कि हमें अपने डेटा और सूचना की सुरक्षा पर ध्यान देने की जरूरत है. चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की मौजूदगी में तकनीकी उपकरणों की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाता है, तो हमें अपनी सुरक्षा को भी महत्व देना चाहिए।”

जारी बयान में गोयल ने कहा कि उन्हें लैपटॉप के आयात पर प्रतिबंध लगाने से स्थिति में बदलाव की उम्मीद नहीं है, लेकिन सरकार उद्योग जगत के साथ परामर्श करके इस पर विचार करने को तैयार है।

इसके साथ ही पत्रकार नलिन मेहता की किताब के विमोचन कार्यक्रम में गोयल ने कहा कि मौजूदा सरकार सुनने वाली और पहुंच वाली सरकार है, जो लोगों की चिंताओं को समझती है. उन्होंने यह भी कहा कि लैपटॉप जैसे उपकरणों में लीक का खतरा हो सकता है जो एक महत्वपूर्ण सुरक्षा खतरा बन सकता है।

मंत्री गोयल ने सुरक्षा के महत्व को उस घटना से प्रमाणित किया जब एक दिन उनके टेलीविजन ने अचानक एचडीएमआई 1 पोर्ट चालू कर दिया। इसके साथ ही उन्होंने अपने फोन को लेकर डर भी जताया और फोन को इमरजेंसी मोड में रखने की बात कही.

ओएनडीसी प्लेटफॉर्म के संदर्भ में मंत्री गोयल ने बताया कि उन्होंने तीन बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों के मालिकों से संपर्क किया है और उन्हें प्रगति के बारे में बताया गया है. उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें ओएनडीसी प्लेटफॉर्म और उनकी कंपनियों की प्रगति के बारे में अपडेट मिलते रहे हैं।

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *