सनी देओल: डिस्लेक्सिया के कारण बचपन में पढ़ाई में आई थी मुश्किलें, स्कूल में शिक्षिकाओं की मार खानी पड़ी थी

गदर 2 के अभिनेता सनी देओल ने खोला डिस्लेक्सिया का राज, बचपन में शिक्षा में आई थी कठिनाइयां

सनी देओल

सनी देओल:

गदर 2 एक्टर सनी देओल ने अपने बचपन के दिनों को लेकर एक खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि उन्हें बचपन में पढ़ाई में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा और स्कूल में महिला टीचरों की पिटाई भी झेलनी पड़ी.

गदर 2 में एक्शन स्टार का खुलासा

गदर 2 में शानदार एक्शन सीक्वेंस देने वाले सनी देओल ने अब अपने बचपन के दिनों के बारे में खुलासा किया है। उनके मुताबिक, बचपन में उन्हें पढ़ाई में काफी दिक्कतें हुईं और यही वजह थी कि स्कूल में उनका रिजल्ट अक्सर खराब रहता था।

डिस्लेक्सिया का अद्भुत खुलासा

सनी देओल ने बताया कि वह बचपन में डिस्लेक्सिया से पीड़ित थे, लेकिन उस समय उन्हें इस बीमारी के बारे में पता नहीं था। उनके मुताबिक, पढ़ाई के दौरान उन्हें शब्दों को समझने में दिक्कत होती थी और यही वजह थी कि उन्हें टीचर्स की मार भी खानी पड़ती थी।

दिक्कतों का सामना करते हुए भी एक्शन हीरो बने

सनी देओल ने अपने बचपन के दिनों के संघर्षों के बारे में भी बात की। उन्होंने बताया कि उनका आईक्यू बहुत हाई था, लेकिन डिस्लेक्सिया के कारण उन्हें शब्दों को समझने में दिक्कत होती थी। उन्होंने बताया कि बचपन में उन्हें बोलने में भी घबराहट महसूस होती थी.

टेलीप्रॉम्प्टर सुझावों पर ध्यान नहीं देता

सनी देओल ने यह भी बताया कि कई बार लोगों ने उन्हें टेलीप्रॉम्प्टर का इस्तेमाल करने की सलाह दी थी, लेकिन उन्होंने इससे इनकार कर दिया और कहा कि वह खुद बोलने की कोशिश करेंगे.

सनी देओल के खुलासे से पता चलता है कि एक्टर्स के पीछे के संघर्ष की कहानियां अक्सर हमें रोमांचित करती हैं। उनकी कड़ी मेहनत, संघर्ष और सफलता की कहानी प्रेरणा का स्रोत हो सकती है, खासकर उन लोगों के लिए जो समस्याओं का सामना करने के बावजूद अपने सपनों को हासिल करने में सफल होते हैं।

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *