सीबीआई द्वारा केंद्रीय विद्यालय प्रिंसिपल पर फर्जी प्रमाणपत्रों का मामला

सीबीआई के अनुसार विशाखापत्तनम के केंद्रीय विद्यालय प्रिंसिपल को माता-पिता से मिलकर अयोग्य छात्रों को फेक फर्जी सेवा प्रमाणपत्रों के जरिए प्रवेश दिलाने का मामला दर्ज किया गया है।

सीबीआई,

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने विशाखापत्तनम के केंद्रीय विद्यालय के प्रिंसिपल के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सीबीआई के मुताबिक, विशाखापत्तनम के केंद्रीय विद्यालय के प्रिंसिपल ने बच्चों के माता-पिता से रिश्वत ली और केंद्र सरकार के तहत विभिन्न विभागों द्वारा जारी फर्जी सेवा प्रमाणपत्रों के माध्यम से अयोग्य छात्रों को स्कूलों में प्रवेश दिलाया। सीबीआई के मुताबिक इस घटना में शामिल छात्रों की कुल संख्या 193 है.

सीबीआई अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, प्रिंसिपल एस श्रीनिवास राजा के खिलाफ सीबीआई ने दो एफआईआर दर्ज की हैं. पहली एफआईआर में साल 2022-23 के दौरान 124 अयोग्य छात्रों के एडमिशन को लेकर आरोप दर्ज किया गया है और दूसरी एफआईआर में साल 2021-22 के दौरान 69 छात्रों के एडमिशन को लेकर मामला दर्ज किया गया है.

सीबीआई की ओर से प्रिंसिपल एस श्रीनिवास राजा पर अयोग्य छात्रों के माता-पिता के साथ साजिश रचने और आवेदन और सेवा प्रमाणपत्रों की जांच किए बिना उन्हें विभिन्न कक्षाओं में प्रवेश देने का आरोप लगाया गया है। बदले में, उन्हें भारतीय स्टेट बैंक और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के बैंक खातों में अनुचित आर्थिक लाभ प्राप्त हुआ है।

2022-23 के लिए दिए गए प्रवेशों को सत्यापित करने के लिए इस साल 3 और 4 मई को केंद्रीय विद्यालय, वाल्टेयर में आंध्र प्रदेश की विशाखापत्तनम इकाई द्वारा की गई संयुक्त औचक जांच के दौरान सीबीआई द्वारा अनियमितताओं का पता लगाया गया था। इसके बाद केंद्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस) के आयुक्त से मंजूरी मिलने के बाद राजा के खिलाफ कार्रवाई शुरू की गई।

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *