सेवानिवृत्ति आयु: सरकारी कर्मचारियों के लिए नया योजना, बढ़ सकती है विभिन्न सेवाओं की आयु

सेवानिवृत्ति आयु का अद्यतन: सरकार द्वारा सोचे जा रहे सरकारी कर्मचारियों के पेंशन योग्यता के बारे में प्लान

सेवानिवृत्ति आयु में बदलाव: केंद्र सरकार (सेंट्रल गवर्नमेंट) ने अपनी नीतियों में समय-समय पर सरकारी कर्मचारियों के वेतन और सेवानिवृत्ति आयु में कई परिवर्तन किए हैं। आजकल, सरकार एक बार फिर से पब्लिक सेक्टर बैंकों के मुख्याधिकारियों और एमडी की सेवानिवृत्ति आयु को बढ़ाने का प्लान बना रही है, लेकिन इसका प्राथमिकता न्यूनतम स्तर के कर्मचारियों को नहीं मिलेगी। LIC समेत ये प्रमुखों की सेवानिवृत्ति आयु बढ़ सकती है पीटीआई के अनुसार, भारतीय स्टेट बैंक (स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) के चेयरमैन दिनेश खारा के कार्यकाल की अवधि बढ़ाने की संभावना है, जिसका मतलब है कि सरकार उनकी सेवानिवृत्ति आयु को बढ़ा सकती है। सरकार विभिन्न सार्वजनिक क्षेत्रीय बैंकों और भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के प्रमुखों की सेवानिवृत्ति आयु बढ़ाने की सोच रही है। MD की सेवानिवृत्ति आयु 62 वर्ष कर सकती है एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सरकार का प्रस्ताव में पब्लिक सेक्टर बैंकों के प्रबंध निदेशकों (एमडी) की सेवानिवृत्ति आयु सीमा को मौजूदा 60 से बढ़ाकर 62 करने का भी शामिल है। 2020 में संभाला था पद याद दिलाते हुए, खारा ने अक्टूबर 2020 में तीन साल के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चेयरमैन का पद संभाला था। मौजूदा नियमों के अनुसार, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चेयरमैन 63 साल तक कार्यभार संभाल सकते हैं। खारा अगले साल अगस्त में 63 साल के हो जाएंगे। फिलहाल अभी तक फैसला नहीं हुआ उच्चाधिकारी ने बताया कि पब्लिक सेक्टर बैंकों और भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के प्रमुखों की सेवानिवृत्ति आयु को बढ़ाने की चर्चा जारी है। उनके अनुसार, पब्लिक सेक्टर बैंकों के एमडी की सेवानिवृत्ति आयु को 60 से 62 वर्ष करने की भी संभावना है। यह निर्णय अभी तक नहीं लिया गया है कि एलआईसी के चेयरमैन की मौजूदा सेवानिवृत्ति आयु 62 वर्ष की जाएगी या नहीं।

सेवानिवृत्ति की आयु में बदलाव:

केंद्र सरकार ने अपनी नीतियों में समय-समय पर सरकारी कर्मचारियों के वेतन और सेवानिवृत्ति की आयु में कई बदलाव किए हैं। आजकल सरकार एक बार फिर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के सीईओ और एमडी की सेवानिवृत्ति की आयु बढ़ाने की योजना बना रही है, लेकिन इसकी प्राथमिकता सबसे निचले स्तर के कर्मचारियों को नहीं दी जाएगी।

LIC समेत इन प्रमुखों की बढ़ सकती है रिटायरमेंट उम्र

पीटीआई के मुताबिक, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के चेयरमैन दिनेश खारा को सेवा विस्तार मिलने की संभावना है, जिसका मतलब है कि सरकार उनकी सेवानिवृत्ति की आयु बढ़ा सकती है। सरकार विभिन्न सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के प्रमुखों की सेवानिवृत्ति की आयु बढ़ाने पर विचार कर रही है।

एमडी की सेवानिवृत्ति की आयु 62 वर्ष हो सकती है

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सरकार के प्रस्ताव में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रबंध निदेशकों (एमडी) की सेवानिवृत्ति की आयु मौजूदा 60 से बढ़ाकर 62 वर्ष करना भी शामिल है।

2020 में पद संभाला

याद दिला दें, खारा ने अक्टूबर 2020 में तीन साल के लिए भारतीय स्टेट बैंक के चेयरमैन का पद संभाला था। मौजूदा नियमों के मुताबिक, भारतीय स्टेट बैंक का चेयरमैन 63 साल की उम्र तक पद पर रह सकता है। खारा अगले साल अगस्त में 63 साल के हो जाएंगे।

अभी तय नहीं हुआ

उच्च अधिकारी ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के प्रमुखों की सेवानिवृत्ति की आयु बढ़ाने पर चर्चा चल रही है। उनके मुताबिक, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के एमडी की रिटायरमेंट उम्र 60 से बढ़ाकर 62 साल करने की भी संभावना है. अभी यह तय नहीं हुआ है कि एलआईसी चेयरमैन की मौजूदा सेवानिवृत्ति की उम्र बढ़ाकर 62 साल की जाएगी या नहीं।

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *