हरिद्वार – मोक्ष की धारा

नमस्ते यात्री मित्रों!

भारत में पवित्र नदी गंगा के तट पर बसा एक पवित्र शहर है हरिद्वार। इस शहर को ‘हरिद्वार’ कहा जाता है, जो ‘हरि’ (भगवान विष्णु) के द्वार का अर्थ होता है। यह एक प्रमुख तीर्थ स्थल है और साथ ही धार्मिक और आध्यात्मिक महत्त्व की दृष्टि से भी बहुत महत्वपूर्ण है।

हरिद्वार यात्रा धार्मिक और आध्यात्मिक अनुभव का एक महान साधन है। यहां पर्यटक गंगा नदी के घाटों पर स्नान करते हैं और अपने पापों की मुक्ति के लिए पूजा-अर्चना करते हैं। चंडीदेवी मंदिर, मांनसा देवी मंदिर, हर की पौड़ी, और चरण पाठरी इत्यादि हरिद्वार के प्रमुख मंदिर हैं, जहां पर्यटक धार्मिक आनंद और शांति का आनंद लेते हैं।

हरिद्वार में हरिद्वार घाट पर हरियाली का खजाना है। यहां पर्यटक नदी के किनारे टहल सकते हैं, प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद ले सकते हैं और आराम कर सकते हैं। हरिद्वार की भगवान विष्णु की धारा को देखने के लिए पर्यटक आते हैं, जिसे ‘हर की पौड़ी’ कहा जाता है। यहां से पर्यटक धार्मिक आनंद लेते हैं और प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद उठाते हैं।

हरिद्वार का खाना भी एक मजेदार अनुभव है। यहां पर्यटक आपको पूरे उत्तराखंड का विशाल रंगीन नास्ता प्रदान करते हैं, जैसे कि गर्म गर्म परांठे, छोले भटूरे, गूलगप्पे और यूनानी मिठाईयाँ।

इस त्योहारी स्थल की यात्रा आपको एक शांत, आध्यात्मिक और सात्विक अनुभव का अद्वितीय अनुभव प्रदान करेगी। हरिद्वार की यात्रा में आपकी आत्मा शुद्धि होगी और आपको एक नई ऊर्जा का अनुभव होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *