SA vs BAN: हार के बाद तौहीद हृदोय का फूटा गुस्सा, अंपायर के फैसले से नाखुश नजर आए

T20 विश्व कप 2024: तौहीद हृदोय ने कहा, “असल में ईमानदारी से कहूं तो यह एक अच्छा निर्णय नहीं था। यह एक कड़ा मुकाबला था। मेरे दृष्टिकोण से अंपायर ने आउट दिया, लेकिन यह हमारे लिए थोड़ा मुश्किल है क्योंकि उन चार रन से मैच का परिदृश्य बदल जाता। इसलिए मेरे पास इसके बारे में कहने के लिए कुछ नहीं है।”

तौहीद हृदोय

न्यूयॉर्क, पीटीआई:

बांग्लादेश के युवा बल्लेबाज तौहीद ह्रदय ने कहा कि अनुभवी बल्लेबाज महमूदुल्लाह रियाद को एलबीडब्लू देने का मैदानी अंपायर का फैसला गलत था, जिसके कारण उनकी टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच हार गई। डीआरएस का सहारा लेने के बाद यह फैसला बदला गया। आईसीसी के एक विवादास्पद नियम के कारण बांग्लादेश को लेग बाई के चार रन गंवाने पड़े, जब अंपायर सैम नोगास्की ने ओटनील बार्टमैन की गेंद पर महमूदुल्लाह को एलबीडब्लू आउट दे दिया।

चार रन के कारण टीम हारी

गेंद बाउंड्री पार गई लेकिन महमूदुल्लाह के डीआरएस लेने के कारण इसे ‘डेड’ (जिस पर रन नहीं बन सकते) माना गया। महमूदुल्लाह को नॉट आउट करार दिया गया, लेकिन बांग्लादेश को चार रन गंवाने पड़े। आईसीसी के नियमों के अनुसार, यदि मैदानी अंपायर बल्लेबाज को एलबीडब्लू आउट देता है, तो तीसरे अंपायर द्वारा फैसला पलटने पर भी कोई अतिरिक्त रन (लेग बाई या बाई) नहीं दिया जाएगा।

यह अच्छा निर्णय नहीं था

तौहीद ह्रदय ने कहा, “वास्तव में ईमानदारी से कहूं तो यह अच्छा निर्णय नहीं था। यह एक कठिन मुकाबला था। मेरे दृष्टिकोण से, अंपायर ने आउट दिया, लेकिन यह हमारे लिए थोड़ा मुश्किल है क्योंकि उन चार रनों से मैच का परिदृश्य बदल सकता था। इसलिए मुझे इस बारे में कुछ नहीं कहना है।” हालांकि, 23 वर्षीय ह्रदय ने इस सवाल को टाल दिया कि वह नियम से सहमत हैं या नहीं।

यह भी पढ़ें

Read More Latest News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *